सेल्फी लेते वक्त अगर कांपते हैं आपके हाथ तो हो सकते है इस घातक बिमारी के लक्षण

0

आइएम न्यूज |  तकनीक के इस युग में आज शायद ही कोई हो जिसने आज तक एक भी सेल्फी न ले ही लेकिन क्या आप जानते है कि सेल्फी लेने के दौरान अगर आपके हाथ लगातार हिल रहे है तो ये एक घातक बिमारी पार्किंसन के लक्ष्ण भी हो सकते ? आइये जानते है क्या होता है पार्किंसन ? 

क्या होता है पार्किंसन 

पार्किंसन एक ख़ास तरह की बीमारी है जिसमें मरीज का शरीर या शरीर के विभिन्न अंगों में कम्पन होने लगता है खास कर कलाइयों उँगलियों और पैरों में | पूरे विश्व में पार्किंसन रोग से पीड़ित मरीजों की स्न्ख्यल साथ लाख से अधिक है , और  अकेले अमेरिका में इस रोग से पीड़ित 10 लाख लोग मौजूद है | 

आम तौर पर ये बीमारी 50 साल से अधिक आयु के व्यक्तियों में होती है लेकिन ये किसी भी आयु-वर्क के व्यक्ति को हो सकती है हालाँकि इसका प्रारम्भ कब होता है इस का पता वैज्ञानिक भी आज तक नही लगा पाए हैं | अगर आपका हाथ लिखते वक्त कांपता है या सेल्फी लेते वक्त लगातार हिलता रहता है और आप चाह कर इसे एकाग्र स्थिति में नही कर सकते तो आपको इस पर ध्यान देने की जरूत है क्यूंकि ये पार्किंसन रोग के प्रारम्भिक लक्षण होते है और इनका निराकरण एक्सरसाइज और दवाओं के जरिये सम्भव है |

हालाँकि देखने में आया है कभी कभी आंतरिक भय और क्रोध में भी व्यक्ति के हाँथ और पैर कम्पने लगते है जोकि एक सामान्य घटना है लेकिन अगर आप सामान्य स्थिति में भी इन परिस्थियों का सामना करते है तो आपको अभी से इस पर ध्यान देने और मंथन करने की जरूरत है | 

क्यूँ होता है पार्किंसन 

पार्किंसन क्यूँ होता है और इसकी शुरुआत कहाँ से होती है वैज्ञानिक इस प्रश्न को पूर्ण रूप से अभी तक हल नही कर पायें है लेकिन वैज्ञानिकों की माने तो मष्तिष्क के बहुत गहरे भाग में स्थित सेल्स जब डैमेज हो जाते है तभी ये बीमारी जन्म लेती है | ये बीमारी वंशानुगत भी हो सकती है | 

पार्किंसन रोग का कारण दिमाग में चोट लगना और अधिक मात्र में नींद की दवाई या नशीली दवाओं का सेवन भी हो सकता है | विटामिन ई की कमी और धूम्रपान के प्रयोग से भी इस रोग का जन्म हो सकता  है | 

क्या है इलाज 

अगर पार्किंसन के क्षेत्र में हुए विभिन्न शोधों की बात मानि जाए तो कहा जा सकता है कि इस का इलाज संभव भी है और नही भी | ये इस बात पर निभर कर सकता है कि आप किस स्टेज में पहुँच चुके है |प्रारम्भिक अवस्था में इसे मुख्तलिफ बिमारियों और एक्सरसाइज के जरिये ठीक किया जा सकता है | पार्किंसन डिजीज से पीड़ित व्यक्ति को नारियल पानी से लाभ मिलता है |

इस बीमारी में रोज लिया जाने वाला 3-4 गिलास नीबू का पानी भी फायदेमंद रहता है | हरे पत्तेदार सब्जियां और उनका जूस भी काफी हद फायदेमंद रहता है | इस बिमारी का सबसे बेहतर इलाज ये है कि इस में मरीज अपना दिल और दिमाग स्वस्थ रखे और गहरे चिन्तन से थोड़े दिनों के लिए किनारा कर लें और प्रतिदिन व्यायाम पर अपना ध्यान फोकस करे | 

क्या आप किसी ऐसे मरीज को जानते है जो ऐसे किसी रोग से पीड़ित है ? अगर हाँ तो हमें जरूर बताएं | 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here