औरंगाबाद में तीन दर्जन से अधिक मस्जिदें ध्वस्त, वक्फ बोर्ड पहुंचा हाईकोर्ट

0
वक्फ बोर्ड
महाराष्ट्र : औरंगाबाद में राजनीतिक दबाव और धमकियों के बीच धार्मिक स्थानों को गिराने का सिलसिला जारी है। अब तक शहर के तीन दर्जन से अधिक इबादतगाहों को ध्वस्त कर दिया गया है। शिवसेना इसे धार्मिक रंग देने की कोशिश कर रही है। दूसरी तरफ वक्फ बोर्ड ने भी सख्त रुख अपनाते हुए वक्फ संपत्तियों के संरक्षण के लिए सुप्रीम कोर्ट जाने का फैसला कर लिया है |
औरंगाबाद में धार्मिक स्थानों को हटाए जाने के मामले में राजनीति शुरू हो गई है। शिवसेना ने इसे धार्मिक रंग देते हुए पहले मस्जिदों को गिराने की मांग की | इस संबंध में शिवसेना के दर्जनों कार्यकर्ताओं ने नगर कमिश्नर का घेराव किया और उन पर पक्षपात का आरोप लगाया। जबकि एम आई एम और अन्य मुस्लिम नेताओं ने आयुक्त को अदालती आदेश के अनुसार काम करने का सुझाव दिया है।
उधर स्टेट वक्फ बोर्ड और माइनॉरिटी वेलफेयर ट्रस्ट ने बॉम्बे हाईकोर्ट की औरंगाबाद बेंच के निर्णय को अदालत में चुनौती देने का फैसला किया है | हाईकोर्ट ने ट्रस्ट और बोर्ड की याचिका स्वीकार कर ली है। वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष का कहना है कि 11 सौ धार्मिक स्थलों जिनमें 130 मस्जिदों और दरगाहें शामिल हैं, बोर्ड के पास उनका रिकॉर्ड मौजूद है। बोर्ड उसे अदालत में ले जाएगा |
याद रहे कि बॉम्बे हाईकोर्ट की औरंगाबाद बेंच ने सडक चौड़ीकरण के नाम परवक्फ बोर्ड की बहुत सी इमारतों के साथ मस्जिदों को भी गिराने का काम जारी हिया जिसे लेकर मुसलमानों में जबर्दस्त गुस्सा पाया जा रहा है | वक्फ बोर्ड ने इसी सूरतेहाल को देखते हुए सुप्रीम कोर्ट जाने का निर्णय लिया है |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here