बाबर के नाम पर हिंदू सेना ने पोती कालिख

0

दिल्‍ली: हिंदूवादी संगठनों द्वारा देश में मुसलमानों की अस्मिता और उनसे जुड़े प्रतीकों को मिटाने का काम तेजी से जारी है। ताजा मामला दिल्ली के बाबर रोड से जुड़ा हुआ है जहां पर हिंदू सेना के कार्यकर्ताओं ने मुगल शासक बाबर के नाम पर बनी सड़क के साइन बोर्ड पर न सिर्फ कालिख पोती बल्कि उत्तेजक नारे भी लगाए।

गौरतलब है कि दिल्ली में मंडी हाउस से बंगाली मार्केट को जोड़ने वाली सड़क को बाबर रोड के नाम से जाना जाता है। यह रोड मुगल बादशाह बाबर के नाम पर बनाई गई थी जिसे कई सालों से आरएसएस और उससे संबंधित संगठन निशाना बनाते रहे हैं। हिंदूवादी संगठनों की मांग है कि इस सड़क का नाम बदलकर किसी हिंदूवादी प्रतीक से जोड़ा जाए।

साइन बोर्ड पर कालिख पोतने के पीछे हिंदू सेना की साजिश मानी रही है। कालिख पोतने वालों ने आसपास कुछ स्टिकर और पोस्टर भी चिपकाए थे फिलहाल पुलिस ने इन्हें हटवा कर अपनी कार्रवाई शुरू कर दी है। दिल्ली पुलिस का कहना है कि हम सीसीटीवी कैमरे और मौजूद सुरक्षा गार्डों की मदद से अराजकता फैलाने वाले इन तत्वों की तलाश कर रहे हैं जैसे इनके बारे में कुछ पता चलता है हम कड़ी कार्रवाई करेंगे।

याद रहे कि इससे पहले हिंदू सेना ने बाबर रोड का विरोध करते हुए मांग की थी कि ”विदेशी आक्रमणकारी बाबर रोड का नाम बदल कर भारत के किसी महापुरुष के नाम किया जाए। क्योंकि ये देश श्रीराम, श्रीकृष्ण, महर्षि वाल्मीकि व संत रविदास का है, बाबर जैसे किसी अत्याचारी का नहीं है।”

ज्ञात हो कि इससे पहले दिल्ली में औरंगजेब रोड का नाम बदलकर पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम के नाम पर किया जा चुका है जिसका उस वक्त काफी विरोध किया गया था सवाल तो यही है कि क्या भारतीय सरकार या किसी राज्य सरकार में इतनी ताकत नहीं कि वह नई सड़क बनवा कर उसका नामकरण कर सके?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here