सुप्रीम कोर्ट का आदेश , किनारा मस्जिद को नही गिरा सकते

0
Supreem court

आईएम न्यूज : सुप्रीम कोर्ट ने हाल ही में अपने दिए गये आदेश को पलटते हुए हाजी अली दरगाह स्थित किनारा मस्जिद को हटाने पर रोक लगा दी.सुप्रीम कोर्ट ने ये फैसला हाजी अली दरगाह ट्रस्ट की जानिब से दायर याचिका का संज्ञान लेते हुए दिया है. हाजी अली दरगाह ट्रस्ट ने हाल ही में याचिका दायर कर य गुहार लगाई थी कि मुंबई से हाजी अली जाने वाली सडक पर मौजूद किनारा मस्जिद को ज्यों का त्यों रखा जाये.

ख़ास बातें
1 कोर्ट ने लगाई किनारा मस्जिद को हटाने के आदेश पर रोक
2 मस्जिद को नियमित करने का मुद्दा राज्य सरकार के पास है विचाराधीन
3 सभी पक्षों की सहमति, राज्य जो फैसला करे

कोर्ट ने मस्जिद हटाने के अपने आदेश को वापस लेते हुए उसे ज्यों का त्यों बरकार रखने की याचिका स्वीकार कर ली . याद रहे पिछले दिनों सुप्रीम कोर्ट ने महाराष्ट्र सरकार को दरगाह के निकट 908 वर्ग मित्र क्षेत्र को साफ़ कराने और मस्जिद को हटाने का आखिरी मौका दिया था . साथ ही कोर्ट ने ये भी कहा था अगर वो ऐसा नही करती है तो उसे गम्भीर परिणाम भुगतने होंगे.

चीफ जस्टिस जेएस खेहर और जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ की पीठ ने हाजी अली न्यास समेत सभी पक्षों की सहमति भी दर्ज की जिसके मुताबिक अब यदि राज्य सरकार मस्जिद को नियमित करने संबंधी याचिका को अस्वीकार करती है तो ऐतिहासिक दरगाह के निकट अतिक्रमित भूमि पर बनी मस्जिद के कुछ हिस्सों को ढहाने का कोई भी विरोध न करेगा .

फिलहाल कोर्ट ने महाराष्ट्र सरकार को मस्जिद को नियमित करने सम्बन्धी याचिका पर हफ्ते भर के भीतर फैसला लेने का निर्देश दिया है. ट्रस्ट ने अपनी दायर याचिका में इस बात पर जोर दिया था कि किनारा मस्जिद को नियमित करने का चूंकि मुद्दा राज्य सरकार की कमेटी के पास विचाराधीन है इसलिए इसे तोड़फोड़ के दायरे से बाहर रखा जाए .

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here