बाराबंकी में हुई मॉब लिंचिंग, भीड़ ने की शेर अली की हत्या

0

मुखबिर न्यूज़: योगी सरकार भले ही यूपी में मॉब लिंचिंग पर कानून बनाने की रणनीति बना रही हो लेकिन इसके बावजूद भी राज्य में हालात सुधरने दिखाई नहीं दे रहे हैं ताजा मामला बाराबंकी जिले के मोहम्मदपुर खाला थाना का है जहां पर एक मुसलमान शेर अली की भीड़ द्वारा हत्या कर दी गई।

बाराबंकी में मॉब लिंचिंग

खबरों के मुताबिक अब्दुल्लापुर के निवासी शेर अली अपने गांव के कुछ मजदूरों के साथ रामनगर थाना क्षेत्र के कन्दरवल निवासी सत्यनाम वर्मा के खेत में धान रोपाई करने गए थे जहां पर मोबाइल चोरी के आरोप में गांव वासियों ने सभी मजदूरों पर हमला कर दिया जिसमें शेर अली धारदार हथियार से हत्या कर दी गई।

प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक हमलावर शेर अली को मरणासन्न समझकर फरार हो गए जिसे बाद में साथी मजदूरों के द्वारा सूरतगंज सीएचसी लाया गया। हालत गंभीर होने की वजह से डॉक्टरों ने शेर अली को ट्रामा सेंटर रेफर कर दिया जहां रास्ते में उनकी मौत हो गई।

लोकतंत्र या भीड़तंत्र

ज्ञात हो कि भारत में भीड़तंत्र द्वारा की गई हत्या का यह कोई पहला मामला नहीं है बल्कि इससे पहले तबरेज, पहलू खान और अखलाक जैसे बहुत से मुसलमानों की हत्या की जा चुकी है। मुसलमानों द्वारा देशव्यापी प्रदर्शन के बावजूद भी अभी तक केंद्र सरकार इस संबंध में कोई निश्चित न्याय प्रणाली या कानून नहीं बना सकी है, और अब बाराबंकी में हुआ माब लिंचिंग का यह मामला सवाल उठाता है कि आखिर कब तक बेगुनाह मुसलमानों की जाने ली जाती रहेंगी।

हालांकि रामनगर शिव उमाशंकर सिंह और एसएचओ श्याम नरायण पांडे के साथ मोहम्मदपुर खाला एसएचओ मनोज शर्मा इत्यादि द्वारा कड़ी कार्रवाई की बात की गई है लेकिन क्या इसमें आरोपियों को सजा मिलेगी ये देखना दिलचस्प होगा? क्षेत्र के मुसलमानों का कहना है कि अगर इस संबंध में कड़ी कार्रवाई नहीं की गई तो वह राज्यव्यापी आंदोलन की शुरुआत कर देंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here