लंदन में मुसलमान ख़ौफ़ज़दा हैं

0
लंदन में मुसलमान

मुख़बिर स्पेशल । इस साल लंदन में हुए कुुुछ हमलों के बाद मुसलमानो के खिलाफ नफरत और अपराध की कई घटनाये सामने आयी है । इनहमलों का आगाज तब हुआ जब रमजान के दौरान लंदन के क्षेत्र फनभरी में स्थित मस्जिद से निकलने वाले नमाजी पर एक गोर आदमी द्वारा वैन चढ़ा दी गई।

अन्य पेश आने वाली घटनाओं में पूर्वी लंदन में एक मुस्लिम महिला, रेशम खान और उनके चचेरे भाई जमील मुख्तार पर तेजाब फेंकने के हालात ही काफी है।

पढ़ें – पंजाब की आजादी के सुर हुए तेज , मोदी सरकार को सिखों का अल्टीमेटम

मुसलमानों को निशाना बनाने को लेकर सोशल मीडिया पर भी बहुत सी चीजें घूम रही हैं, जो शहर के मुस्लिम समुदाय में पाई जाने वाली चिंता बढ़ा रही हैं।

लंदन निवासी मेहर खान ने बीबीसी से बात करते हुए कहा कि ‘सोशल मीडिया पर मुसलमानों पर हमलों की कई सूचनाओं गर्दिश कर रही हैं, विभिन्न घटनाओं में मुसलमानों को निशाना बनाया गया है। मैं अब अपनी कार का शीशा भी नीचे नहीं करती, डर लगता है कि कोई एसिड ही न फेंक दे।

शहर की मुस्लिम आबादी में पाए जाने वाले डर और चिंता स्थानीय निर्वाचित प्रतिनिधि भी परिचित हैं . लंदन क्षेत्र नीवहम से पार्षद उबैद खान बीबीसी से बात करते हुए कहा कि ‘लंदन में मुसलमान भयभीत हैं, लोग किसी के लिए दरवाजा खोलते हुए भी डर, उन्हें डर है कि कोई एसिड ही न उन पर फेंक दे।’

उबैद खान का कहना था कि ‘डर का आलम यह है कि कुछ लोग अपने साथ वाहन में पानी रखते हैं, कि अगर खुदा नखास्ता  एसिड फेंका जाए तो उसे तुरंत धोया जा सके।

स्कॉटलैंड यार्ड ने हमें बताया कि पिछले एक महीने के दौरान लंदन में चालीस से अधिक एसिड हमले रिपोर्ट हुए हैं, जिनमें से कुछ में मुसलमानों को भी निशाना बनाया गया है। लंदनपुलिस के अनुसार ऐसे हमलों हरगिज बर्दाश्त नहीं किया जाएगा और उनमें शामिल लोगों को जेल खानों तक पहुंचाया जाएगा।

लंदन मेट्रोपोलिटन पुलिस के सीनियर अधिकारी सुरीडेन्ट वहीद खान ने बात करते हुए कहा कि ‘यह धारणा सही नहीं है कि सिर्फ मुसलमानों को शहर में निशाना बनाया जा रहा है, बल्कि हर रंग और नस्ल के लोग इन हमलों से प्रभावित हुए हैं। ‘

वहीद खान का कहना था कि ‘मैं लोगों को विश्वास दिलाना चाहता हूं कि पुलिस मुसलमानों के खिलाफ होने वाले अपराधों की जांच में किसी प्रकार भेदभाव नहीं करती और ऐसे पुलिस दूसरों के लिए काम करती है वैसे ही मुसलमानों के लिए भी काम करती है। ‘

हालांकि पुलिस मुसलमानों के खिलाफ होने वाले नफरत अपराध की रोकथाम के लिए कदम उठा रही है। लेकिन इसमें कोई शक नहीं कि हाल की घटनाओं के बाद शहर की मुस्लिम आबादी में एक भय का माहौल पाया जा रहा है ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here